Sunday, August 2, 2009

जन्मदिन हमारा शुक्रिया आपका !

किसी रोज बातों-बातों में यूं ही कहा था कि काश कोई ऐसी दुनिया होती जहां सुंदर कविताएं, संगीत, प्यारी बातें, सारे मौसम, पूर्णमाशियां सारी, समंदर, पंक्षी, ढेर सारी आजादी और वो सब कुछ हो जो मुझे पसंद हो. जहां कोई नियम नहीं, कोई रोक-टोक नहीं. क्या होता भला उस दुनिया का नाम बूझो तो?
प्रतिभा की दुनिया और क्या. वह छोटा सा संवाद ब्लॉग बन गया. कुछ दोस्तों ने एक सुंदर सा ब्लॉग प्रतिभा दुनिया के नाम से बनाकर तोहफे में दिया. इस तरह प्रतिभा की दुनिया बन गई. फिर सवाल कि इस दुनिया में हो क्या? क्योंकि इस पर कोई योजनाबद्ध ढंग से काम तो हुआ नहीं था. और क्यों भला मैं अपनी दुनिया सार्वजनिक करूं. क्यों बताऊं लोगों कि मुझे फलां कविता बहुत प्रिय है. मैं बता भी दूं तो भला कोई क्यों सुने मुझे. इन्हीं सब उहापोह के बीच यह सफर शुरू हुआ. लेकिन दोस्तों ने ब्लॉग बनाने तक ही साथ नहीं निभाया लिखवा लेने का भी जिम्मा उठाया. जिस दिन पोस्ट न डालूं फोन आ जाते, मेल आने लगतीं कुछ तो लिखिये. साथियों ने हौसला दिया तो वरिष्ठजनों ने रास्ता दिखाया, बताया कि यह तुम्हारी दुनिया है इसके प्रति उदासीनता ठीक नहीं है. धीरे-धीरे ब्लॉग की दुनिया के नये दोस्त भी उत्साहवद्र्धन में शामिल होने लगे. हैरत होती मुझे कि किसी के लिखे का कोई इंत$जार भी कर सकता है. मुझे अपने लिखे को लेकर कोई मुगालता, कभी नहीं रहा. मुझे खुद पर यकीन रहा हो, न रहा हो लेकिन दोस्तों ने, गुरुजनों ने यह यकीन कभी नहीं छोड़ा. उनका यकीन ही मेरा लेखन है. आज मुड़कर देखती हूं तो पाती हूं कि पूरे एक साल से यह दुनिया बाकायदा आबाद है. कोई आंधी नहीं, कोई तूफान नहीं, कोई रुकावट नहीं. ढेर सारे साथी फॉलोअर्स के रूप में जुड़े हैं और टिप्पणीकर्ताओं के रूप में भी. आज प्रतिभा की दुनिया के जन्मदिन के मौके पर उन सबके प्रति आभार जिन्होंने हर मौके पर मेरा उत्साह बढ़ाया, लिखने के सिलसिले को रुकने नहीं दिया और मुझमें विश्वास बनाये रखा. उनका यह विश्वास ही मेरी ताकत है.

12 comments:

Nirmla Kapila said...

प्रतिभा जी आप्को बहुत बहुत मुबारक आप हमेशा ऐसे ही लिखती रहें और हम पढते रहें बहुत बहुत शुभकामनायें आप की ये दुनियाँ यूँ ही हंसती मुस्कुराती रहे आभार्

Mired Mirage said...

बहुत बहुत बधाई।
घुघूती बासूती

Udan Tashtari said...

बहुत बहुत मुबारक और बहुत शुभकामनायें.

Anonymous said...

प्रतिभा जी आप के ब्लाग के लिए अपको ढेर सारी बधाइयां। आपने अपनी सारी उपलब्धियां अपने दोस्तों में बांट दीं। ये सिर्फ आप ही कर सकती हैं। उम्मीद करता हूं कोई भी आंधी आपका रास्ता न रोक पाए, कोई तूफान आपके हौसले को न झुका पाए, कोई चटटान आपके रास्ते में खडी होने की हिम्मत न करे और हम सभी आपका ब्लाग ता उम्र पढते रहें। एक बार फिर ब्लाग के पहले जन्मदिन पर ढेरों बधाइयां।

बी एस पाबला said...

ब्लाग के पहले जन्मदिन पर बधाइयां।

लेकिन आप बड़ी सफाई से अपना जन्मदिन छिपा ले गईं.
आपकी इस पोस्ट का शीर्षक भी कुछ कह रहा -जन्मदिन हमारा (आपका और आपके ब्लॉग का)

अब, 26 जुलाई को न सही, आज ही सही.
आपको जन्मदिन की बधाई व शुभकामनाएं

RAHUL said...

ye blog hamara bhi hai...to hum bhi shareek hain badhai dene waalon mein aur lene walon mein,..

अनूप शुक्ल said...

बहुत बहुत बधाई। जन्मदिन मुबारक!

sushant jha said...

मेरी तरफ से भी लख-लख बधईयां...प्रतिभाजी आपके ब्लाग के जन्मदिन पर। देखिये अब आपका ब्लाग चूंकि साल भर का हो गया है तो इसे हारलिक्स, दूध और पौष्टिक तत्वो से भरपूर भोजन चाहिए और वो भोजन होगा आपका पोस्ट और हमारी टिप्पणियां। तो आप अपनी बेहतरीन लेखनी का इस्तेमाल जारी रखिये...और हमें प्रेरित करती रहिए टिपियाने के लिए।

mehek said...

bahut badhai

रंजना [रंजू भाटिया] said...

बहुत बहुत बधाई जी आपको

manjusha said...

fffff

manjusha said...

यंू तो ये मेरा पहला कमेंट है. पर दिल में कई बार ख्याल आया कि इसके साथ सदा के लिए हो जाऊं. जब आज एक बार फिर प्रतिभा कि दुनिया करी ओर छांका तो अहसास हुआ कि मैं कहीं पीछे छूट गई, उस अहसास से जो जिसके पास जा कर दिल शांत होता है, कुछ नया करने को करता है. एक साल का ये सफर पूरा हो गया पर मेरे लिए ये तो हमेशा एक नया सफर है. जो नई दिशा देता है, दिल को खुद की सुनने की प्रेरणा देता है और कुछ अलग करने का जज्बा पैदा करता है. सच ये दुनिया कुछ निराली है.